>16 Best Home Remedies For Back Pain करे छूमंतर - HEALTH AND OTHERS

16 Best Home Remedies For Back Pain करे छूमंतर

क्या आपकी stiff back है? क्या आपको एक या दोनों दिशाओं में मुड़ने या झुकने में कठिनाई होती है? अगर हां, तो आपको Back Pain की समस्या हो सकती है। पीठ दर्द को तेज दर्द के रूप में पहचाना जाता है जिसे आप अपनी पीठ या रीढ़ में महसूस कर सकते हैं। Back pain को Neck pain (सर्वाइकल स्पाइन), Upper back pain (वक्षीय रीढ़), Lower back pain (रीढ़ के निचले हिस्से), Tailbone pain के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है। अधिकांश लोगों को अपने जीवन में कभी न कभी पीठ दर्द का अनुभव होता है। पुरुषों और महिलाओं दोनों में पच्चीस वर्ष की आयु के बाद पीठ दर्द की घटना अधिक आम हो जाती है।

इसलिए, हम कमर दर्द के लिए कुछ प्राकृतिक उपचार लेकर आए हैं, जिन्हें आप घर पर ही कर सकते हैं। तो चलिये जानते है इन घरेलु उपचारों को।

कमर दर्द का कारण (Causes of Back Pain)

  • पीठ और पेट की मांसपेशियों में कमजोरी
  • मांसपेशियों में खिंचाव और ऐंठन
  • ख़राब मुद्रा
  • रीढ़ पर अतिरिक्त दबाव
  • छोटी शारीरिक गतिविधि
  • अधिक वज़न।

कमर दर्द के लक्षण (Symptoms of Back Pain)

  • तेज दर्द
  • कठोरता
  • मांसपेशी में ऐंठन
  • सुन्न होना
  • झुनझुनी (पिन और सुई सनसनी)

कमर दर्द के घरेलू उपाय | कमर दर्द का रामबाण इलाज (Back pain Home Remedies)

1 गलांगल (Galangal)

पीठ दर्द के घरेलू उपचार के रूप में गलांगल का उपयोग किया जा सकता है क्योंकि इसमें सूजन-रोधी गुण हो सकते हैं। Galangal चाय घर पर पीठ दर्द का समाधान प्रदान कर सकती है। गलांगल की चाय बनाने के लिए, अपनी पसंद की किसी भी चाय में कुचले हुए गलांगल की जड़ का एक छोटा टुकड़ा डालें और उन्हें कुछ मिनट के लिए पानी में एक साथ उबालें। फिर चाय को छान लें, चीनी या शहद मिलाकर सुबह और शाम इस चाय को पीने से कमर दर्द में जल्दी आराम मिलता है।

2 अदरक (Ginger)

अदरक घर में पाया जाने वाला सबसे आम मसाला है। इसका उपयोग खाना पकाने के लिए किया जाता है। अदरक को कमर दर्द के लिए तुरंत उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। अदरक में जिंजरोन और जिंजरोल जैसे बायोएक्टिव रसायन होते हैं। इन यौगिकों में सूजन-रोधी गतिविधियाँ हो सकती हैं जो दर्द को कम करने में मदद कर सकती हैं।

अदरक की चाय एक लाभकारी पीठ दर्द का घरेलू उपचार हो सकती है। अदरक की चाय बनाने के लिए अदरक की जड़ का एक छोटा सा टुकड़ा लेकर उसका छिलका उतार लें। इसके बाद, आप अदरक को काट या कद्दूकस कर सकते हैं और इसे उबलते पानी में डाल सकते हैं। करीब दस मिनट तक उबालने के बाद अदरक को ठंडा करके छान लें। आखिर में जरूरत हो तो शहद या नींबू का रस मिलाएं।

3 हल्दी (Turmeric)

हल्दी आपकी रसोई में आसानी से उपलब्ध हो जाती है और सदियों से पारंपरिक चिकित्सा में इसका इस्तेमाल किया जाता रहा है। हल्दी के मुख्य बायोएक्टिव यौगिक करक्यूमिन में सूजन-रोधी गुण हो सकते हैं, जो शरीर में दर्द को कम करने के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।

कमर दर्द के लिए हल्दी वाला दूध एक अच्छा घरेलू उपाय हो सकता है। आधा कप दूध (गर्म/ठंडा) में एक चम्मच हल्दी पाउडर डालकर अच्छी तरह मिला लें। यदि आवश्यकता हो तो मिठास के लिए थोड़ा शहद मिला लें। Back pain से संभावित राहत के लिए रात को सोते समय इस हल्दी वाले दूध का सेवन करें।

4 शैतान पंजा (Devil’s claw/ उलट-कांटा/ बाघनख/  हाथाजोड़ी)

16 Best Home Remedies For Back Pain करे छूमंतर
Image by Hans from Pixabay

शैतान पंजा में एनाल्जेसिक और विरोधी भड़काऊ गुण हो सकते हैं। यह एक प्रभावी दर्द निवारक हो सकता है और पीठ दर्द को कम करने में मदद करता है। कमर दर्द के लिए डेविल्स क्लॉ टी फायदेमंद हो सकती है। इस चाय को बनाने के लिए डैविल्स क्लॉ की सूखी जड़ की छाल को पानी में 15-20 मिनट तक उबालें। इसको ठीक से पकने दें। आप एक अनोखी मसालेदार सुगंध देखेंगे। चाय पीने से कमर दर्द से जल्द राहत मिल सकती है।

5 लाल मिर्च (Cayenne)

लाल मिर्च में शरीर में न्यूरोट्रांसमीटर पैदा करने वाले दर्द के स्तर को कम करने की क्षमता हो सकती है। इसके अलावा, लाल मिर्च के सक्रिय यौगिक जिसे कैप्सैसिनोइड्स कहा जाता है, में दर्द को कम करने की क्षमता हो सकती है। आप रेडी टू यूज केयेन प्लास्टर टेप खरीद सकते हैं, जो आपको पीठ दर्द से तेजी से राहत दिला सकता है।

6 सफेद विलो छाल (White willow bark)

सफेद विलो छाल को एक एनाल्जेसिक जड़ी बूटी माना जा सकता है जो Low back pain से राहत दिलाने में मदद कर सकती है। 3,4 सफेद विलो छाल का सेवन चाय के रूप में किया जा सकता है। विलो छाल की चाय बनाने के लिए एक से दो चम्मच सफेद विलो छाल के टुकड़ों को पानी में डालकर पांच से दस मिनट तक उबलने दें। उबलने के बाद, आँच बंद कर दें और इसे लगभग 30 मिनट तक भीगने दें। इस चाय को आवश्यकतानुसार पिएं।

7 लैवेंडर (Lavender)

लैवेंडर के फूलों का उपयोग हर्बल शामक के रूप में किया जा सकता है जो तनाव को कम करने और मांसपेशियों के तनाव को कम करने में मदद करता है। कमर दर्द के लिए आप लैवेंडर एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका उपयोग करने से पहले, आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप अपनी पसंद के किसी अन्य तेल (नारियल के तेल) के साथ लैवेंडर आवश्यक तेल को पतला कर लें। प्रभावित क्षेत्रों पर लगाने से कमर दर्द में तुरंत राहत मिलेगी।

8 मसाज (Massage)

सरसों के तेल, ऑलिव ऑइल, लैवेंडर ऑइल इनमें से किसी को भी चुनें और उसे हल्का गर्म कर कमर पर मालिश करें। इस दौरान अंगूठों से रीढ़ की हड्डी पर भी हल्का दबाव बनाते हुए मसाज करें। सीधे के साथ ही सर्कुलर मोशन में भी मसाज करें। इससे आपको कुछ ही देर में कमर दर्द से राहत महसूस होगी।

9 शीत और ताप उपचार (Cold and heat therapies) महिलाओं में कमर दर्द के घरेलू उपचार1

Cold therapy – कोल्ड थेरेपी सूजन और दर्द को कम करने में मदद करती है। कुछ उदाहरणों में एक कपड़े में बर्फ लपेटना, फ्रीजर से जमे हुए मटर का एक पैकेट या एक ठंडा जेल पैक शामिल है। हमेशा अपनी त्वचा और आइस/कोल्ड पैक के बीच कम से कम एक परत रखें।

Heat therapy – हीट थेरेपी रक्त प्रवाह, विश्राम और दर्द से राहत में सुधार करने में मदद करती है। हीट थेरेपी कई रूपों में आ सकती है। आपके लिए सबसे अच्छा क्या काम करता है यह जानने के लिए कई प्रयास करना सबसे अच्छा है। गर्म स्नान या शॉवर लेना, गर्म टब में भिगोना, या हीटिंग पैड या हीट रैप का उपयोग करना, ये सभी आपकी पीठ के निचले हिस्से में गर्मी लाने के तरीके हैं।

चाहे बर्फ लगाना हो या हीट पैक, अपनी त्वचा की सुरक्षा के लिए कम से कम 2 घंटे के आराम के साथ अनुप्रयोगों को 15 या 20 मिनट तक सीमित करें। कभी भी हीटिंग पैड या फ्रोजन पैक के साथ न सोएं क्योंकि इससे त्वचा को स्थायी नुकसान हो सकता है।

10 तुलसी (Tulsi)

तुलसी भी आपको back pain या low back pain से राहत दिला सकती है। इसके लिए आप एक कप पानी में तुलसी की 8-10 पत्तियां डालकर उसे तब तक उबालें, जब तक कि पानी आधा न हो जाए। उसके बाद उसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें। फिर उसमें एक चुटकी नमक डालकर पीएं। रोजाना इसका सेवन आपको कमर दर्द से लंबे समय के लिए आराम दिला सकता है। 

11 खसखस (Poppy seed)

खसखस के बीज को कमर दर्द या पीठ के दर्द के इलाज में रामबाण औषधि की तरह माना जाता है। इसके लिए आप एक कप खसखस के बीज और एक कप मिश्री का पाउडर रोजाना सुबह शाम दो-दो चम्मच एक गिलास दूध में डालकर पीएं। इससे आपको जल्द ही आराम मिलेगा। 

12 लहसुन (Garlic)

लहसुन को वैसे तो पूरे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है, लेकिन इसका उपयोग कमर दर्द या low back pain से निजात पाने के लिए भी किया जा सकता है। इसके लिए आप सरसों के तेल में लहसुन की 3-4 कलियों को डालकर उसे तब तक उबालें, जब तक कि लहसुन की कलियां काली न पड़ जाएं। फिर उस तेल को थोड़ा सा ठंडा होने के लिए छोड़ दें और फिर बाद में उससे दर्द वाली जगह पर मसाज करें। इससे दर्द में तुरंत राहत मिलेगी।

13 कमर दर्द के लिए एक्सरसाइज | व्यायाम (Exercise)

निम्नलिखित प्रकार के व्यायाम मुद्रा और low back pain/ back pain के दर्द दोनों में सुधार कर सकते हैं:

  • योग (Yoga): मानसिक और शारीरिक कार्यों में सुधार करते हुए योग गतिशीलता में सुधार कर सकता है और दर्द कम कर सकता है। आगे बताए गए योग के आसन हैं जो किसी व्यक्ति को पीठ से दर्द को कम करने में मदद करते हैं। डाउनवार्ड डॉग(Downward Dog), चाइल्ड पॉज(Child’s Pose), पिलो पॉज(Plow Pose), कैट / कॉउ(Cat/Cow), बो पोज(Bow Pose), सिटेड फारवर्ड फॉल्ड(Seated Forward Fold)।
  • पिलेट्स (Pilates): यह छह बुनियादी सिद्धांतों का पालन करता है, जिसमें धड़ की मांसपेशियों को केंद्रित करना या कसना, एकाग्रता, आसन का प्रबंधन, सटीक, प्रवाह और श्वास शामिल है।
  • ताई ची (Tai chi): यह पारंपरिक चीनी व्यायाम दर्द को कम करने और कार्य में सुधार करने में मदद कर सकता है।
  • कोर स्टेबिलिटी एक्सरसाइज (Core stability exercises): ये एक्सरसाइज धड़ की मांसपेशियों के समन्वय और सक्रियता में सुधार करती हैं। ये दर्द को कम करने, तनाव और मांसपेशियों की ऐंठन को कम करने और धड़ की जकड़न में सुधार करने में मदद कर सकते हैं।
  • एरोबिक व्यायाम (Aerobic exercise): नियमित एरोबिक व्यायाम से शारीरिक कार्य, मांसपेशियों की सहनशक्ति, दर्द और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है। व्यायाम उच्च, मध्यम या कम तीव्रता वाला हो सकता है।
  • चलना/दौड़ना (Walking/running): ये स्वास्थ्य में सुधार और मांसपेशियों को मजबूत करने के किफायती तरीके हैं।
  • तैरना (Swimming): लोग पीठ की मजबूती के लिए तैरने का सुझाव दे सकते हैं, क्योंकि पानी मांसपेशियों को सहारा देता है। हालांकि, पीठ के निचले हिस्से के दर्द के इलाज में इसकी प्रभावशीलता पर कुछ अध्ययन हैं।

14 एप्सम सॉल्ट (Epsom salt)

एक कटोरी एप्सम सॉल्ट को हल्के गर्म पानी से भरे बाथटब में डालें। जबतक पानी की गर्माहट रहे तब तक बाथटब में रहे। बाहर निकलते ही आप दर्द में कमी महसूस कर सकेंगे।

15 काला कोहोश जड़ (Black cohosh root)

ब्लैक कोहोश रूट में एंटीस्पास्मोडिक गतिविधि हो सकती है और मांसपेशियों की ऐंठन से राहत मिल सकती है, दर्द कम हो सकता है और शामक (sedative) प्रभाव हो सकता है। ब्लैक कोहोश रूट टी कमर दर्द के लिए फायदेमंद घरेलू उपचार हो सकती है। इस चाय को बनाने के लिए काले कोहोश की जड़ें लें और उन्हें उबलते पानी में डालें और फिर इसे 20-30 मिनट तक उबलने दें जब तक कि तरल कम न हो जाए। कमर दर्द से राहत पाने के लिए पिएं ये चाय।

16 दूध (Milk)

दूध के अंदर भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। ऐसे में दूध के सेवन से मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और हड्डियां भी मजबूत होती हैं। कभी-कभी पीठ के निचले हिस्से में दर्द कैल्शियम की कमी से होता है। ऐसे में नियमित रूप से दूध का सेवन करें। दूध में शुगर की बजाय आप शहद को मिलाएं और उसका सेवन करें। कमर दर्द का रामबाण इलाज है।

कमर दर्द से बचने के उपाय (Ways to prevent back pain)

कुछ खास चीजों को अपने जीवन में लागू कर आप आसानी से कमर दर्द से बचाव कर सकते हैं। कमर दर्द से बचाव के निम्न तरीके हैं:-

  • सही पोस्चर में बैठें
  • लंबे समय तक लेटने से बचें
  • हेल्दी डाइट चार्ट को फॉलो करें
  • विटामिन डी से भरपूर चीजों को अपनी डाइट में शामिल करें
  • पर्याप्त मात्रा में पानी और जूस पीएं
  • हरी सब्जियों और फलों का सेवन करें
  • रोजाना हल्का-फुल्का व्यायाम करें
  • एक जगह लंबे समय तक बैठने से बचें
  • झटके से उठने, बैठने या सोने से बचें ताकि कमर पे अचानक प्रेशर न पड़े
  • रोजाना कम से कम 10-20 मिनट पैदल चलें इससे रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है
  • भारी सामान उठाने से बचें
  • अपने वजन को नियंत्रित रखें। बहुत ज्यादा वजन होने पर भी पीठ में दर्द होता है। 
  • लंबे समय तक सोफे पर झुक कर बैठने से बचें
  • गाड़ी चलाते समय स्टीयरिंग के करीब रहें ताकि आप अपने घुटनों से क्लच या ब्रेक दबाएं और अपनी पीठ को तनाव न दें
  • यदि आप लंबे समय तक पढते-लिखते रहते हैं तो 30-डिग्री डेस्कटॉप स्लांट का इस्तेमाल करें
  • कभी भी वजन या वस्तुओं को लेने के लिए आगे न झुकें। अपने घुटनों पर झुकें और रीढ़ को सीधा रखते हुए उठाएँ
  • यदि आप लंबे समय तक पढते-लिखते रहते हैं तो 30-डिग्री डेस्कटॉप स्लांट का इस्तेमाल करें
  • कार्यालय में लैपटॉप के बदले डेस्कटॉप का उपयोग करें और इसे सामने रखें
  • यदि लंबे समय तक लैपटॉप का उपयोग करते हैं, तो स्लेंटेड स्टैंड का उपयोग करें। आपके लैपटॉप का उपरी भाग आपके सिर के समांतर होना चाहिए

इन सबके अलावा, रोजाना सोने से पहले अपने कमर की हल्की मालिश कर सकते हैं। इस बात का भी ध्यान रखें कि आप अचानक से कोई भारी सामान न उठाएं, क्योंकि इससे कमर में दर्द हो सकता है।

आपको डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

जबकि पीठ दर्द अक्सर घरेलू उपचार का जवाब देता है, ऐसे कुछ लक्षण हैं जो आपके डॉक्टर के साथ नियुक्ति करने के लिए बुलाते हैं। इसमे शामिल है:

  • दर्द छह सप्ताह से अधिक समय तक रहता है
  • दर्द जो घरेलू उपचार के बाद भी बदतर हो जाता है
  • दर्द जो आपको रात में जगाता है
  • अतिरिक्त पेट दर्द
  • कमजोरी, झुनझुनी, या हाथ या पैर में सुन्नता के साथ दर्द
  • अंग आंदोलन का नुकसान
  • आंत्र या मूत्राशय पर नियंत्रण न होना

अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल (Frequently Asked Questions)

Q1 कमर दर्द के लिए प्राथमिक सावधानियां क्या हैं?
Ans: पीठ दर्द को प्रबंधित करने की सावधानियों में जीवनशैली में बदलाव शामिल हैं। चलने और तैरने, वजन प्रशिक्षण, योग, पिलेट्स, अच्छी मुद्रा और स्वस्थ वजन बनाए रखने, तनाव और मांसपेशियों के तनाव को कम करने और बेहतर विश्राम जैसे नियमित व्यायाम से पीठ दर्द का प्रबंधन करने में मदद मिल सकती है।

Q2 पीठ दर्द को प्रबंधित करने के विभिन्न तरीके क्या हैं?
Ans: पीठ दर्द को शारीरिक व्यायाम, कायरोप्रैक्टिक, फिजियोथेरेपी और एक्यूपंक्चर द्वारा प्रबंधित किया जा सकता है।

Q3 पीठ दर्द के लिए किस प्रकार की चिकित्सा का उपयोग किया जाता है?
Ans: पीठ दर्द के लिए विभिन्न उपचार जैसे हर्बल दवा, लेजर थेरेपी, अल्ट्रासाउंड, गर्मी और ठंड चिकित्सा और इलेक्ट्रोथेरेपी का उपयोग किया जा सकता है। इसलिए, अगर आपको कमर दर्द की समस्या है, तो इन उपचारों को आजमाने से पहले डॉक्टर से सलाह लें और सलाह लें।

Q4 जब आप डॉक्टर के कार्यालय जाते हैं तो आप किन सवालों की उम्मीद करते हैं?
Ans: डॉक्टर आपके पीठ दर्द की जांच करेंगे और आपसे निम्नलिखित प्रश्न पूछ सकते हैं:
– आप दर्द का वर्णन कैसे करेंगे?
– झुनझुनी या सुन्नता है?
– पीठ दर्द शुरू होने से पहले आप कौन सी गतिविधियां कर रहे थे?
– कमर दर्द कब शुरू हुआ?
– क्या दर्द बदतर या बेहतर बनाता है?

Disclaimer: यह सलाह केवल आपको सामान्य जानकारी प्रदान करने के लिए दी गई है। आप किसी भी चीज का सेवन या कोई भी घरेलू उपाय करने से पहले अपने डॉक्टर या विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

1 thought on “16 Best Home Remedies For Back Pain करे छूमंतर”

Comments are closed.

Translate »
Home remedies for Piles | Hemorrhoids Official trailer: Tu Jhoothi Main Makkaar New Punjabi Movies 2023 JEE Main 2023 Result Link Sidharth Malhotra Lands In Jaisalmer