20 Amazing Mouth Ulcers Home Remedies In Hindi

20 Amazing Mouth Ulcers Home Remedies In Hindi

Mouth Ulcers क्या है?

क्या आप अभी-अभी अपने मुंह में एक असहज दर्द और जलन के साथ उठे हैं? अगर हां, तो आपके मुंह में छाले होने की संभावना हो सकती है। Mouth ulcers जिन्हें नासूर घावों (canker sores) के रूप में भी जाना जाता है, छोटे, दर्दनाक गांठ होते हैं जो आपके मुंह के अंदर या आपके मसूड़े (gums) के आधार पर दिखाई देते हैं – कुछ अवसरों पर, ये गाल, होंठ और जीभ पर भी देखे जा सकते हैं।आमतौर पर यह mouth ulcers अपने आप ठीक हो जाते हैं। लेकिन फिर भी, वे आपके खाने में बाधा डालते हैं, जिससे यह दर्दनाक (painful) और असुविधाजनक (uncomfortable) हो जाता है।

किन कारणों से Mouth Ulcers होते है? (Causes Of Mouth Ulcers)

जिन लोगों ने मुंह के छालों का अनुभव किया है, वे इस स्थिति के कारण होने वाली परेशानी और दर्द को जानते हैं। भोजन करना लगभग असंभव हो जाता है और आप जो कुछ भी खाने की कोशिश करते हैं वह बहुत दर्द से नीचे जाता है। कुपोषण के साथ मुंह के अंदर दिखने वाले इन छालों में तनाव की बड़ी भूमिका होती है। मुंह के छालों के सटीक कारण हर व्यक्ति में अलग-अलग होते हैं। मुंह के छालों के कुछ सामान्य कारणों में शामिल हैं:-

  • मुंह में बैक्टीरिया (bacteria) की प्रतिक्रिया
  • नींबू, अनानास, स्ट्रॉबेरी या किसी अन्य अम्लीय भोजन (acidic food) जैसे एसिड युक्त भोजन के प्रति संवेदनशीलता (Sensitivity)
  • ग्लूटेन के प्रति असहिष्णुता (Gluten Intolerance) मुंह के छालों के गठन को उत्तेजित कर सकती है
  • सोडियम लॉरिल सल्फेट (sodium lauryl sulphate) युक्त टूथपेस्ट या माउथवॉश अल्सर का कारण बन सकते हैं
  • शरीर में आवश्यक विटामिन और खनिजों की कमी (Vitamin B12, Zinc, आयरन और फोलेट)
  • कुछ मामलों में हार्मोनल परिवर्तन भी मुंह के छालों का कारण बन सकते हैं
  • कभी-कभी, कुछ चिकित्सीय स्थितियां भी मुंह के छालों का कारण बन सकती हैं, उदाहरण के लिए, वायरल संक्रमण (viral infections) या सीलिएक रोग (coeliac disease) आदि
  • गाल या जीभ के आकस्मिक काटने, मामूली चोट या कठोर ब्रशिंग से
  • अम्लीय भोजन (acidic food) या अन्य खाद्य ट्रिगर जैसे कॉफी (coffee) और चॉकलेट
  • दंतपट्टिका (Dental braces)
  • तनाव (Stress)
  • कब्ज (Constipation)
  • बीटा-ब्लॉकर्स (beta-blockers) और दर्द निवारक (pain killers) जैसी दवाएं

Mouth Ulcers कितने प्रकार के होते है? (Types of Mouth Ulcers)

1 Minor Ulcers – इसमें छोटे मुंह के घाव होते हैं। वे आम तौर पर अंडाकार या आकार में गोलाकार होते हैं। ये घाव आमतौर पर 2 सप्ताह के भीतर ठीक हो जाते हैं। उपचार पूरा होने के बाद निशान नहीं छोड़ते हैं।

2 Major Ulcers – यह बड़े घावों की विशेषता है। उनके पास एक अनियमित आकार होता है, छोटे अल्सर की तुलना में बहुत गहरा होता है। इसे ठीक होने में लगभग 6 सप्ताह लग सकते हैं। प्रमुख अल्सर स्थायी निशान छोड़ सकते हैं।

3 Herpetiform Ulcers – ये 1-2 मिमी के बीच के पिनपॉइंट आकार के अल्सर होते हैं। ये आमतौर पर 10 से 100 के समूह में अनियमित आकार के होते हैं। ये अल्सर आमतौर पर निशान नहीं छोड़ते हैं। वे 1-2 सप्ताह के भीतर ठीक हो जाते हैं।

Mouth Ulcers Home Remedies

मुंह के छाले किसी भी समय और अक्सर बिना किसी स्पष्ट कारण के प्रकट हो सकते हैं। हालांकि ओवर-द-काउंटर उपचार उपलब्ध हैं, जो इस स्थिति से अस्थायी राहत प्रदान कर सकती हैं। हालांकि, इनमें से कोई भी पारंपरिक उपचार मुंह के छालों का स्थायी इलाज नहीं करता है। इस संबंध में सरल घरेलू उपचार सबसे अच्छा काम करते हैं। यहां मुंह के छालों के लिए घरेलू उपचारों की एक सूची दी गई है जो इलाज के रूप में कार्य कर सकते हैं और Mouth ulcers को पूरी तरह से रोकने में भी सहायता कर सकते हैं।

1 संतरे का रस (Orange Juice)

खांसी और ज़ुकाम के 11 Magical घरेलु उपाय (Cold and Cough Cure at Home)
Image by Comfreak from Pixabay

Mouth ulcers विटामिन सी (Vitamin C) की कमी के कारण हो सकता है। संतरे का मुख्य लक्ष्य शरीर को विटामिन सी की आपूर्ति करना है। आप पर्याप्त विटामिन सी प्राप्त करने के लिए दिन में दो बार दो गिलास ताजा संतरे का रस पी सकते हैं।

2 मुलेठी (Mulethi)

मुलेठी पेट की समस्याओं के कारण होने वाले मुंह के छालों में मदद कर सकती है। आप इसे पीने के लिए पानी और शहद के साथ मिला सकते हैं। यह आपके पेट को साफ करने और अल्सर का कारण बनने वाले विषाक्त (toxins) पदार्थों को निकालने में मदद करती है।

3 दही (Yoghurt)

चूंकि अल्सर से जलन होती है, इसलिए हर तरह के मसाले और गर्म भोजन से दूर रहना ही सबसे अच्छा है। आप अल्सर में राहत देने के लिए ठंडे दही से भरी कटोरी का सेवन कर सकते हैं।

4 तुलसी के पत्ते (Tulsi leaves)

तुलसी के पत्ते अपने औषधीय गुणों के लिए जाने जाते हैं और सदियों से इसका इस्तेमाल किया जाता रहा है। कुछ ताजी पत्तियों को चबाएं और फिर उन्हें निगलने में मदद करने के लिए थोड़ा पानी पिएं। वे थोड़े कड़वे हैं, लेकिन काम कर सकते हैं।

5 एलोवेरा जूस (Aloe Vera Juice)

एलोवेरा जूस राहत पाने के लिए दिन भर में थोड़ा – थोड़ा एलोवेरा जूस को पिएं। एलोवेरा में anti-inflammatory गुण होते हैं, और एलोवेरा का रस पेट के अल्सर के इलाज के लिए भी जाना जाता है।

6 शहद (Honey)

शहद में कई लाभकारी गुण होते हैं। हालाँकि, आप इस तथ्य से अनजान हो सकते हैं कि यह मुँह के छालों का एक प्रभावी इलाज भी हो सकता है। छालों पर शहद लगाकर रहने दें। यह जरूरी है कि आप हर कुछ घंटों के बाद अल्सर वाले स्थानों पर शहद लगाते रहें। शहद में रोगाणुरोधी (antimicrobial) गुण होते हैं और यह किसी भी खुले घाव को जल्दी ठीक करने में मदद कर सकता है। अल्सर को कम करने के अलावा, शहद क्षेत्र को संक्रमण (infections) से भी बचाता है।

7 बेकिंग सोडा पेस्ट (Baking Soda)

Uric Acid - क्या है, Normal Level, 10 clear लक्षण और Treatment in Hindi
Image by NatureFriend from Pixabay

बेकिंग सोडा और पानी बराबर मात्रा में लें। इन्हें मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को मुंह के छालों पर लगाएं और सूखने दें। जब मिश्रण सूख जाए तो पानी से मुंह धो लें और गरारे भी करें। ऐसा दिन में तीन बार करना चाहिए। बेकिंग सोडा दरअसल सोडियम बाइकार्बोनेट नाम का एक रासायनिक यौगिक है। इस chemical compound का उपयोग कई घरेलू सफाई समाधानों में किया जाता है। यह मुंह के छालों के सबसे अच्छे इलाज में से एक के रूप में भी जाना जाता है, क्योंकि यह दर्द को काफी कम करता है। बेकिंग सोडा mouth ulcers से बनने वाले एसिड को बेअसर कर देता है, जो अंतत स्थिति का इलाज करता है।

8 नमक वाला पानी (Salt Water)

एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच नमक मिलाएं। अब इस लिक्विड से अच्छी तरह से गरारे करें। एक बार जब आप कर लें, तो आप अपने मुंह से नमकीन स्वाद को दूर करने के लिए सादे पानी से गरारे कर सकते हैं। इस प्रक्रिया का उपयोग करके, आप मुंह के छालों के दौरान होने वाले दर्द और परेशानी को कम कर सकते हैं। नमक के एंटीसेप्टिक (antiseptic) गुण सर्वविदित हैं।

9 टूथपेस्ट (Tooth paste)

कौन जानता था कि साधारण टूथपेस्ट मुंह के छालों के खिलाफ भी मदद कर सकता है? हालांकि, किसी भी अच्छे टूथपेस्ट में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो मुंह के छालों की सूजन और दर्द को कम कर सकते हैं। Tooth paste को क्यू-टिप की मदद से लगाएं। सुनिश्चित करें कि आप पूरे अल्सर क्षेत्र को टूथपेस्ट से ढक दें। पेस्ट को धोने से पहले कुछ मिनट के लिए छोड़ दें। आप हर दिन टूथपेस्ट को तब तक लगा सकते हैं जब तक कि आपको अल्सर से सफेदी गायब न हो जाए। हालांकि, अल्सर पर टूथपेस्ट लगाने से काफी दर्द हो सकता है। एलोवेरा जेल को मौके पर लगाने से इस दर्द को दूर किया जा सकता है।

10 नारियल का तेल (Coconut oil)

नारियल के तेल का उपयोग भारत के अधिकांश हिस्सों में विभिन्न प्रकार की गतिविधियों में किया जाता है। हालांकि, जब मुंह के छालों की बात आती है तो बहुत कम लोग इसके उपचार गुणों के बारे में जानते हैं। अल्सर की सतह पर बस थोड़ा सा नारियल का तेल लगाएं और इसे ऐसे ही रहने दें। आप इसे रात को सोते समय भी लगा सकते हैं।

शहद के समान, नारियल के तेल में रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो प्राकृतिक रूप से अल्सर को कम करने में मदद करते हैं। वही यौगिक आपके मुंह के छालों के लिए एक anti-inflammatory और एनाल्जेसिक (analgesic) उपचार के रूप में भी कार्य करता है। तेल लगाने से मुंह के छालों के कारण होने वाले दर्द को कम किया जा सकता है।

11 लौंग का तेल (Clove oil)

लौंग भारत में सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले मसाले में से एक, गरम मसाला का एक अनिवार्य हिस्सा है। लौंग का तेल फूल की कली से निकाला जाता है। इस अर्क का उपयोग प्राकृतिक उपचारों की एक विस्तृत श्रृंखला में किया जाता है, जिसमें दांत दर्द (Tooth Ache) और मुंह के छाले शामिल हैं। मुंह के छाले होने पर रुई का एक छोटा टुकड़ा लें और तेल को सीधे अल्सर पर लगाएं। तब तक प्रतीक्षा करें जब तक अल्सर ऊतक तेल को absorb न कर ले।

लौंग का तेल लगाने से पहले अपने मुंह को गर्म पानी से धोना न भूलें। यह अल्सर क्षेत्र की सतह को साफ कर देगा। लौंग में यूजेनॉल (eugenol) और रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो सभी मौखिक मुद्दों से निपटने में मदद करते हैं। इस तेल को लगाने से दर्द और सूजन का भी इलाज होता है।

दांत दर्द के 13 प्राकृतिक घरेलू उपचार
Image by Sabine Schwaighofer from Pixabay
21 Best Dark Circles Home Remedies In Hindi
Image by Summer Malik from Pixabay
25 Amazing Acne Home Remedies In Hindi
Image by Steve Buissinne from Pixabay

12 हल्दी पाउडर (Turmeric powder)

हल्दी एक एंटीसेप्टिक है, जिसका इस्तेमाल लगभग सभी भारतीय व्यंजनों में किया जाता है। हल्दी इंफेक्शन से लड़ने के साथ-साथ मुंह के छालों की सूजन और दर्द से लड़ने में भी कारगर है। इसमें रोगाणुरोधी गुण भी हैं। थोड़ा सा हल्दी पाउडर और थोड़ा पानी लें। गाढ़ा पेस्ट बनाने के लिए मिलाएं। इस पेस्ट को रोजाना सुबह और शाम छालों पर लगाएं। इसे कुछ मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसे अच्छी तरह से धो लें। आपको तुरंत फर्क दिखना शुरू हो जाएगा।

13 लहसुन (Garlic)

लहसुन हर भारतीय रसोई में एक और आम वस्तु है। जबकि यह आमतौर पर करी और दाल के स्वाद के लिए प्रयोग किया जाता है, लहसुन मुंह के छालों के लिए भी एक महान उपाय के रूप में कार्य कर सकता है। लहसुन में मौजूद एलिसिन यौगिक इसे रोगाणुरोधी बनाता है, जो कई तरह के संक्रमणों के खिलाफ मदद करता है। लहसुन का इस्तेमाल करने के लिए एक लहसुन को आधा काट लें और उसे अल्सर वाली जगह पर एक-दो मिनट तक थपथपाएं। ऐसा करने के बाद, अपनी सांस से कच्चे लहसुन की गंध को दूर करने के लिए अपने मुंह को अच्छी तरह से धो लें। आप इसे दिन में दो या तीन बार दोहरा सकते हैं।

14 गोभी का रस (Cabbage Juice)

एक कच्ची पत्ता गोभी को उबाल लें और पर्याप्त उबालने के बाद इसे एक बार प्यूरी कर लें। आवश्यक लाभ प्राप्त करने के लिए इस रस को दिन में तीन से चार बार पियें। गोभी में एंटी-इंफ्लेमेटरी (anti-inflammatory) गुण होते हैं जो आपके मुंह में दर्द को कम कर सकते हैं, जिससे आप आसानी से ठोस खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं, भले ही आप गंभीर मुंह के छालों से पीड़ित हों।

20 Amazing Mouth Ulcers Home Remedies In Hindi
Photo by Laker : https://www.pexels.com/photo/half-of-fresh-juicy-cabbage-on-blue-surface-6157047/
घरेलू किडनी स्टोन (गुर्दे की पथरी) के रामबाण उपाय
Photo by Rosana Solis from Pexels

15 सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

अगली बार जब आप राशन की दुकान पर जाएं, तो सेब के सिरके की एक बोतल उठाएँ। इसका एक बड़ा चम्मच लें और इसे आधा कप गर्म पानी में मिलाएं। इस घोल को अपने मुंह के अंदर लें और इससे कुल्ला करें। एक या दो मिनट के लिए दोहराते रहें। इतना करने के बाद अपने मुंह को सादे पानी से अच्छी तरह धो लें। आप इसे हर सुबह और शाम को तब तक दोहरा सकते हैं, जब तक कि mouth ulcers ठीक न हो जाए। एप्पल साइडर विनेगर में एंटी-बैक्टीरियल (anti-bacterial) गुण होते हैं जो अल्सर का कारण बनने वाले कीटाणुओं को मार देंगे। यह आपके ठीक होने में भी तेजी लाएगा।

16 फिटकिरी पाउडर (Alum powder)

फिटकरी में कसैले गुण होते हैं जो ऊतकों को सिकोड़ने और नासूर घावों को सुखाने में मदद कर सकते हैं। पानी की एक बूंद में फिटकरी पाउडर की थोड़ी मात्रा मिलाकर पेस्ट बना लें। पेस्ट को ulcer पर लगाएं और कम से कम 1 मिनट के लिए छोड़ दें। अपना मुंह अच्छी तरह से धो लें। जब तक आपके ulcer का दर्द दूर न हो जाए तब तक इसे रोजाना दोहराएं।

17 खसखस (Poppy seeds)

20 Amazing Mouth Ulcers Home Remedies In Hindi
Photo by Castorly Stock : https://www.pexels.com/photo/tiny-size-of-seeds-inside-of-a-jar-3682189/

चौंकिए मत – कच्चे खसखस का सेवन अनादि काल से अस्थमा और खांसी जैसी विभिन्न स्थितियों से लड़ने के लिए किया जाता रहा है। इसे मुंह के छालों के लिए एक अच्छा घरेलू उपाय भी माना जाता है। यह शरीर की गर्मी को कम कर सकता है और आपको mouth ulcers से कुछ राहत दिला सकता है। आप कुछ खसखस को चीनी के साथ मिला सकते हैं और फिर उनका सेवन कर सकते हैं।

18 घी (Ghee)

मानो या न मानो, घी सूजन को कम कर सकता है जिससे यह मुंह के छालों के लिए एक बहुत ही लोकप्रिय उपाय बन जाता है। बस अपनी उंगली पर थोड़ा सा शुद्ध घी लें और इसे छालों पर लगाएं। इसे कुछ देर के लिए छोड़ दें और फिर सादे पानी से अपना मुंह धो लें। ऐसा दिन में कम से कम एक बार करें।

19 जिंक की खुराक (Zinc Supplements)

आयरन, फोलिक एसिड, विटामिन बी12 या जिंक की कमी से मुंह के छाले हो सकते हैं। जिंक की खुराक लेने से आपके मुंह के छालों की आवृत्ति कम हो सकती है और आपकी immune system को बढ़ावा मिलता है। Zinc की खुराक लेते समय, हमेशा आपूर्तिकर्ता के निर्देशों का पालन करें।

20 मिल्क ऑफ मैग्नेशिया (Milk of magnesia)

20 Amazing Mouth Ulcers Home Remedies In Hindi
Photo by Karl Gerber: https://www.pexels.com/photo/toys-on-the-grass-field-5956211/

मिल्क ऑफ मैग्नेशिया में मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड (hydroxide) होता है। यह एक एसिड न्यूट्रलाइज़र (acid neutralizer) और एक रेचक है। जब मौखिक रूप से उपयोग किया जाता है, तो यह आपके मुंह में पीएच (PH level) को बदल सकता है, जिससे घाव नहीं पनप सकता। यह जलन को रोकने और दर्द को दूर करने में मदद करने के लिए घाव को भी कोट करता है। अपने mouth ulcers पर थोड़ी मात्रा में मिल्क ऑफ मैग्नीशिया लगाएं और इसे कुछ सेकंड के लिए लगा रहने दें, फिर धो लें। इसे प्रतिदिन तीन बार दोहराएं।

ये कुछ घरेलू उपचार हैं जो मुंह के छालों को ठीक कर देंगे। हालांकि, कई प्रकार के मुंह के छाले होते हैं, जिनमें से प्रत्येक का एक अलग कारण और उपचार होता है। कुछ मुंह के छाले जहां रक्तस्राव होता है, सामान्य अल्सर की तुलना में अधिक गंभीर हो सकते हैं। इन हैक्स को आज़माएं और देखें कि आपको इनसे कोई लाभ मिलता है या नहीं। यदि आपको कोई सुधार नहीं दिखाई देता है, तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

उपर्युक्त उपायों में से किसी का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से जांच करने की सलाह दी जाती है। यदि आपको Mouth Ulcers की यह Home Remedies in Hindi लेख अच्छा लगा हो तो लाईक करें, कॉमेंट करें और अपने मित्र परिवार के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद!

Health and Others (HAO)
HOME REMEDIES

Leave a Comment

20 Common Home Remedies Worst Weight Loss Strategies That Can Age You Faster Stranger Things Season 5 Toyota Hyryder National Doctor’s Day