Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi

Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi

Constipation एक ऐसा मुद्दा हैं जिसका सामना हम सभी को अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार करना पड़ता है। आमतौर पर, आपको Short-term Constipation का अनुभव हो सकता है जो ज्यादातर यात्रा, सर्जरी या आहार में अस्थायी परिवर्तन के कारण होता है। दूसरी ओर, आपको Chronic Constipation का अनुभव हो सकता है जो कुछ हफ्तों या उससे भी अधिक समय तक रहती है। लेकिन Home Remedies की मदद से Constipation को Treat किया जा सकता है। चलिये पहले जानते है Constipation क्या है, इसके Causes और Symptoms क्या है।

Constipation क्या है? (What is Constipation)

जब किसी व्यक्ति को एक सप्ताह में तीन से कम मल त्याग होता है, तो इस स्थिति को Constipation के रूप में जाना जाता है। कब्ज़ के दौरान मल कठोर, शुष्क, या ढेलेदार होता हैं, मल जो मुश्किल या दर्दनाक तरीके से बाहर निकलता हैं, या आपको महसूस होता है की अभी पेट अच्छी तरह से खाली नहीं हुआ हैं।

कब्ज़ के कारण क्या है? (Causes Of Constipation)

1 ऐसा diet लेना जो फाइबर में कम हो।
2 पानी कम पीना।
3 दिनचर्या में बदलाव का अनुभव करना जैसे भोजन का समय बदलना, यात्रा करना, सोने का समय बदलना।
4 बहुत अधिक दूध या डेयरी उत्पादों का सेवन करना।
5 लैट्रिन आने के बावजूद शौचालय नहीं जाना।
6 Stress होना।
7 थायराइड की समस्या, Diabetes, आलसी आंत्र सिंड्रोम, पाचन तंत्र में रुकावट, Fistulas और गर्भावस्था जैसी चिकित्सीय स्थितियां।
8 पर्याप्त शारीरिक गतिविधि (Lack of physical activity) कम करना।
9 आप कोई अन्य दवा ले रहे हैं जो इस स्थिति के साथ विरोधाभास कर सकती हैं।
10 रीढ़ की हड्डी (Backbone injury) की चोट। 
11 Parkinson disease

कब्ज के लक्षण (Signs and Symptoms of Constipation)

  • प्रति सप्ताह तीन या उससे कम मल त्याग करना।
  • लैट्रिन Hard होना।
  • पेट के निचले हिस्से में बेचैनी।
  • बाथरूम जाने के लिए जोर लगाना।
  • कठोर मल के कारण होने वाले आघात से Anal bleeding or fissure।
  • अपने मलाशय में रुकावट महसूस करना।
  • यह महसूस करना कि आप अपनी आंतों को पूरी तरह से खाली नहीं कर पा रहे है।
  • मल को अपने मलाशय से बाहर निकलने में मदद करने के लिए अपने हाथों का उपयोग करना।
  • सूजन और ऐंठन होना।
  • भूख कम होना।
  • Lethargic महसूस करना।
  • बवासीर।
  • मतली (Nausea), सूजन और भरा हुआ महसूस करना।

अब हम जानेगे कोण से ऐसे घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से हम तुरंत और लंबे समय तक कब्ज़ से राहत मिल सकती हैं।

कब्ज के घरेलू उपचार (Home Remedies for Constipation in Hindi)

1 नींबू का रस (Lemon)

नींबू का रस शरीर से toxic पदार्थों को बाहर निकालने में मदद कर सकता है। नींबू विटामिन सी में उच्च होते हैं, यह एक एंटीऑक्सीडेंट यौगिक है जो पानी को आंत में खींचता है। आंत के अंदर पानी की मात्रा बढ़ने से मल को नरम करने और मल त्याग को प्रोत्साहित करने में मदद मिलती है। आंत्र उत्तेजना को बढ़ाने के लिए रोज़ाना पीने के पानी या चाय में नींबू का रस मिलाया जा सकता है। ताजा निचोड़ा हुआ नींबू का रस सबसे अच्छा होता है।

2 एलोवेरा (Aloe Vera)

Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Image by mozo190 from Pixabay

अक्सर एलोवेरा कट और जलन को शांत करने के लिए बाहरी रूप से उपयोग किया जाता है, आप पाचन तंत्र को शांत करने के लिए एलोवेरा को मौखिक रूप (orally) से भी ले सकते हैं। कब्ज और आईबीएस (Irritable Bowel Syndrome) को कम करने में मदद के लिए एलोवेरा जूस को सादा पिएं या इसे स्मूदी या अन्य पेय पदार्थों में मिलाएं।

3 नारियल पानी (Coconut Water)

Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Image by Adriano Gadini from Pixabay

नारियल पानी डिटॉक्सिफाइंग और हाइड्रेटिंग होता है। यह Kidney की क्रिया को बढ़ाता है और पाचन तंत्र को उत्तेजित करता है। नारियल पानी में प्राकृतिक रूप से मैग्नीशियम भी पाया जाता है, जो आंतों की दीवार की मांसपेशियों की सहायता से शरीर से मल बाहर निकालने में मदद करता है।

4 सौंफ (Fennel)

सौंफ एक सौम्य, प्राकृतिक Laxative है। भुनी हुई सौंफ को गर्म पानी में मिलाकर शाम को पिया जा सकता है। सौंफ के बीज पाचन तंत्र में गैस्ट्रिक एंजाइम को बढ़ाते हैं, जिससे मल को colon से निकलने में मदद मिलती है।

5 आलूबुखारा (Prunes)

आलूबुखारा या सूखे आलूबुखारे खाने से कब्ज की समस्या दूर हो सकती है। फूड साइंस एंड न्यूट्रिशन में क्रिटिकल रिव्यूज में एक अध्ययन के अनुसार, सूखे प्लम और उनके डेरिवेटिव, जैसे कि प्रून जूस, Constipation को रोक सकते हैं और कोलन कैंसर को भी रोक सकते हैं। आलूबुखारा में पाए जाने वाले पोषक तत्व मोटापे, मधुमेह और हृदय रोगों को नियंत्रित करने में भी मदद करते हैं।

6 अंजीर (Fig)

अंजीर एक Natural Laxative के रूप में कार्य करता है जो पाचन को बढ़ावा देता है, मल त्याग को नियंत्रित करता है और कब्ज से राहत देता है। इसमें उच्च मात्रा में Fiber होता हैं जो मल में बल्क लाता हैं, इसे नरम करता हैं और कब्ज को दूर करने में मदद करता हैं। एक गिलास दूध में 2-3 सूखे अंजीर डालें और कुछ मिनट के लिए उबलने दें। Constipation से छुटकारा पाने के लिए इस मिश्रण को सोने से पहले पिएं। कब्ज से पीड़ित लोग जल्दी राहत पाने के लिए रोजाना ताजे और पके अंजीर का एक पूरा फल खा सकते हैं।

7 किशमिश (Raisins)

Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Image by Tafilah Yusof from Pixabay

किशमिश के सबसे प्रसिद्ध गुणों में से एक इसकी मल त्याग करने की क्षमता है। किशमिश में फाइबर की मात्रा अधिक होती है और पानी में भिगोने पर ये प्राकृतिक Laxative के रूप में काम करते हैं। भीगी हुई किशमिश खाने से न सिर्फ कब्ज दूर होती है बल्कि पाचन क्रिया भी मजबूत रहती है। रोजाना 4-5 किशमिश का सेवन आपके पेट के लिए बहुत अच्छा होता है।

8 दूध और घी (Milk and ghee)

घर पर थायराइड (Thyroid) का इलाज करने के Superb 11 तरीके
Image by Myriams-Fotos from Pixabay

कुछ लोग आंतों को उत्तेजित करने के लिए गर्म दूध से लाभ उठाते हैं, खासकर जब घी डाला जाता है। घी स्पष्ट मक्खन और एक प्राचीन उपचार उपकरण है। आयुर्वेदिक प्रथाओं ने हजारों वर्षों से इसके उपचार गुणों के लिए घी का उपयोग किया है। आप शाम को गर्म दूध में एक से दो चम्मच घी मिलाकर अगली सुबह धीरे-धीरे और स्वाभाविक रूप से मल त्याग करने में मदद मिलती हैं।

9 शहद (Honey)

Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Image by fancycrave1 from Pixabay

पाचन स्वास्थ्य में सहायता करने वाले एंजाइमों से भरपूर, शहद एक सामान्य घरेलू वस्तु है जो एक हल्का Laxative भी है। जब इसको सादा लिया जाए या चाय, पानी या गर्म दूध में मिलाया जाए, तो शहद कब्ज को कम करता है।

10 अलसी (Flaxseed)

अलसी घुलनशील और अघुलनशील फाइबर से भरी हुई है जो Constipation के लिए एक प्राकृतिक इलाज के रूप में काम करती है। आप अनाज, सलाद, या चाय में भी अलसी के बीजों को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। अलसी की कुकीज़ बनाना एक स्वस्थ विकल्प है जो कब्ज को स्वस्थ रूप से रोकता है।

Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Image by Søren Brath from Pixabay
Insomnia 10 Superb Home Remedies हिंदी में
Image by Couleur from Pixabay

11 ओमेगा-3 तेल (Omega-3 oil)

मछली के तेल में ओमेगा -3 तेल और अलसी का तेल Laxative प्रभाव के लिए आंतों की दीवारों को चिकनाई देता है। मछली जैसे सैल्मन, अलसी और एवोकाडो उत्पादों को अपने आहार में शामिल कर सकते है। यदि आप नियमित रूप से इन खाद्य पदार्थों को पसंद नहीं करते हैं या नहीं खा सकते हैं तो ओमेगा -3 Supplements भी ले सकते हैं।

12 बेकिंग सोडा (Baking Soda)

Uric Acid - क्या है, Normal Level, 10 clear लक्षण और Treatment in Hindi
Image by NatureFriend from Pixabay

बेकिंग सोडा, एक अन्य घरेलू उत्पाद, जो Colon को साफ करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। लगभग एक चौथाई कप गर्म पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा का घोल बना लें। बेकिंग सोडा पेट के एसिड के साथ प्रतिक्रिया करके मल त्याग को उत्तेजित करता है।

13 विटामिन (Vitamins)

विटामिन आपके पाचन तंत्र को संतुलित रखने में मददगार हो सकते हैं। जैसे Vitamin C, Vitamin B-5, Folic acid, Vitamin B-12 और Vitamin B-1, इन विटामिनों वाले खाद्य पदार्थ खाने से आपके मल त्याग की संख्या बढ़ सकती है। विटामिन यह सुनिश्चित करने का एक और तरीका है कि आपको अपनी Daily Requirement की उचित मात्रा मिल रही है।

Uric Acid - क्या है, Normal Level, 10 clear लक्षण और Treatment in Hindi
Photo by Polina Tankilevitch: https://www.pexels.com/photo/person-taking-pill-3873209/
Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Image by congerdesign from Pixabay

14 पानी (Water)

पर्याप्त पानी पीना कब्ज से राहत पाने का पहला कदम है। जब कोई व्यक्ति निर्जलित हो जाता है, तो शरीर Colon सहित पूरे शरीर से पानी खींचना शुरू कर देता है। दिन में छह से आठ गिलास पानी पीने से Hydrated रहने से मल नरम रहता है, जिससे मल त्याग अधिक आरामदायक होता है।

15 व्यायाम (Exercise)

Uric Acid - क्या है, Normal Level, 10 clear लक्षण और Treatment in Hindi
Image by StockSnap from Pixabay

नियमित व्यायाम स्वस्थ मल त्याग को बनाए रखने में मदद कर सकता है। जोरदार और निष्क्रिय गतिविधि आंतों पर सकारात्मक प्रभाव डालती हैं। दौड़ना आंतों को इस तरह से हिलाता है जो मल को हिलने के लिए प्रोत्साहित करता है। खेल गतिविधियों में भाग लेना, नृत्य करना, या यहां तक कि दिन में एक या दो बार 10 से 15 मिनट तक पैदल चलना आपको Constipation को दूर रखने में मदद करता है।

16 फाइबर (Fiber)

पर्याप्त फाइबर खाने से स्वस्थ पाचन तंत्र के साथ-साथ वजन घटाने में भी मदद मिलती है। Daily हमे 25 से 30 ग्राम फाइबर लेना चाहिये। फाइबर में आप दलिया, अलसी, साबुत अनाज, फल, बीन्स और सब्जियां एक अच्छा फाइबर स्रोत प्रदान करते हैं जो Constipation को रोक सकते हैं।

17 अरंडी का तेल (Castor oil)

कैस्टर बीन से प्राप्त एक प्राकृतिक Laxative, अरंडी का तेल मल त्याग को प्रोत्साहित करने के लिए लिया जाता है। यह प्राचीन तेल न केवल आंतों को चिकनाई देता है, बल्कि यह आंतों contraction भी करने में सहायक होता है। निर्देशानुसार अरंडी ।का तेल एक से दो चम्मच खाली पेट लें।

18 कॉफी (Coffee)

Uric Acid - क्या है, Normal Level, 10 clear लक्षण और Treatment in Hindi
Image by PublicDomainPictures from Pixabay

कैफीन युक्त कॉफी पीने से मल त्याग को उत्तेजित किया जा सकता है। कैफीन आंतों में मांसपेशियों की contraction करती है। यह उत्तेजना मल को मलाशय की ओर ले जाती है। हालांकि कैफीन युक्त कॉफी आंतों को हिलाने में मदद कर सकती है, लेकिन यह Dehydration भी कर सकती है। कैफीन युक्त पेय पदार्थ पीते समय खूब पानी पीना सुनिश्चित करें।

19 सेन्ना चाय (Senna)

सेन्ना टी Constipation से राहत पाने का एक पारंपरिक उपाय है। सेना के पौधे पूरी दुनिया में उगाए जाते हैं। सेना के पत्तों में सेनोसाइड्स नामक यौगिक होते हैं, जो आपके पाचन तंत्र को इतना परेशान करते हैं कि मल त्याग करना आसान हो जाता है। सेना को कभी-कभार ही कब्ज से राहत पाने के लिए इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि इसका ज्यादा इस्तेमाल आपके पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचा सकता है।

Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Image by congerdesign from Pixabay

20 अदरक की चाय (Ginger tea)

जी हां, आपकी “अधक वाली चाय” भी Constipation को ठीक करने के लिए एक आदर्श घरेलू उपचार है। अदरक को एक जड़ी बूटी के रूप में जाना जाता है जो आपके शरीर के अंदर अधिक गर्मी उत्पन्न करती है। आपकी अदरक की चाय में गर्म पानी भी पाचन को उत्तेजित करने में मदद करता है और यह तुरंत कब्ज से भी राहत दिलाता है।

21 तिल (Sesame seeds)

तिल के बीज में तेल संरचना है जो आंतों पर काम करती है और उन्हें मॉइस्चराइज (moisturize) करने में मदद करती है। यह बेहद मददगार साबित होते है क्योंकि यह सुखी लैट्रिन को गुजरने में आसानी कर सकता है। Constipation दूर करने का बहुत अच्छा घेरलू उपाय है और इसे आप अनाज या सलाद में भी ले सकते है।

22 मुलेठी (Liquorice root)

मुलेठी सबसे प्रभावी आयुर्वेदिक खाद्य पदार्थों में से एक है जो पाचन में सुधार करने में मदद करती है। एक चम्मच मुलेठी की जड़ (पाउडर) लें और उसमें एक चम्मच गुड़ मिलाएं। अब आप इसे सिर्फ एक कप गर्म पानी के साथ पी सकते हैं। यह आंत्र गतिविधि को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है और व्यापक रूप से Constipation के लिए सबसे अच्छी जड़ी बूटियों में से एक मानी जाती है।

Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Photo by Vie Studio: https://www.pexels.com/photo/raw-sesame-seeds-7420888/
Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Image by gate74 from Pixabay
Constipation की 31 Best Home Remedies in Hindi
Image by Di Reynolds from Pixabay

23 रूबर्ब (Rhubarb)

जब हम Constipation के लिए हर्बल उपचार के बारे में बात करते हैं, तो रूबर्ब बहुत प्रभावी साबित होती है। यह अपने खट्टे स्वाद के लिए जाना जाता है और आमतौर पर इसे चीनी के साथ पकाया जाता है। रूबर्ब को Laxative प्रभाव के लिए जाना जाता है और कब्ज के लिए एक प्राकृतिक उपचार है।

24 केला (Banana)

Constipation के लिए यह आदर्श तत्काल भारतीय घरेलू उपचार है। पके केले बहुत मददगार होते हैं और जब कब्ज से तुरंत राहत की बात आती है तो यह सबसे अच्छा उपाय है। यह फाइबर का एक अच्छा स्रोत हैं और पाचन में सुधार के लिए भी जाने जाते हैं।

25 गुलकंद (Gulkand)

रात को सोते समय एक चम्मच (5-10 ग्राम) गुलकंद (गुलाब की पंखुड़ियों से बना) एक कप दूध के साथ लेने से Constipation से राहत मिल सकती है।

26 गुड़ (Jaggery Drink)

हमारा पसंदीदा देसी ‘स्वीटनर’ पुरानी Constipation और सामयिक दोनों को ठीक करने में अद्भुत काम करता है। एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच गुड़ मिलाएं और सोने से पहले इसका सेवन करें। गुड़ की उच्च मैग्नीशियम सामग्री यह सुनिश्चित करेगी कि अगली सुबह आपका मल त्याग सुचारू और निर्बाध हो।

27 सेब का जूस (Apple Juice)

आपके आंत के माध्यम से मल त्याग को सुविधाजनक बनाने में आहार फाइबर की प्रमुख भूमिका होती है। सेब का रस आहार फाइबर का एक समृद्ध स्रोत है और इसकी कोल्ड-प्रेस्ड किस्म को दिन भर पीने से यह सुनिश्चित होता है कि कब्ज आपको कभी परेशान ना करें।

28 त्रिफला (Triphala)

त्रिफला एक भारतीय आयुर्वेदिक उपचार है जो संपूर्ण स्वास्थ्य समस्याओं को ख़तम करता है। 2 चम्मच त्रिफला चूर्ण को एक गिलास पानी में मिलाकर रोज सुबह खाली पेट पिएं। इसके Laxative गुण कब्ज से संबंधित समस्याओं को प्रभावी ढंग से दूर करने में मदद करते हैं।

29 पपीता (Papaya)

पपैन नामक एंजाइम के कारण पपीता प्रोटीन के पाचन को आसान बनाता है। यह पाचन विकारों के इलाज में भी मदद करता है क्योंकि यह Vitamin A और C, बीटा कैरोटीन, और फास्फोरस, Iron, कैल्शियम, पोटेशियम जैसे खनिजों से भरा होता है। इस फल के प्राकृतिक उपचार गुण इसे एक प्राकृतिक रेचक बनाते हैं, जिससे यह कब्ज के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार बन जाता है। रात में पपीते का सेवन करें ताकि सुबह आप अच्छे से लैट्रिन कर सकें।

30 मेवे (Nuts)

बादाम, अखरोट और पेकान कुछ ऐसे मेवे हैं जो फाइबर से भरपूर होते हैं। इन्हें भूनकर खाने से Constipation का इलाज हो सकता है।

31 सेंध नमक (Epsom Salt)

एप्सम सॉल्ट मैग्नीशियम और सल्फेट यौगिकों का एक संयोजन है जो आंतों में पानी खींचने में मदद करता है, जिससे यह कब्ज के लिए सबसे अच्छा उपाय है। यह आपके मल को नरम बनाकर उत्सर्जन प्रक्रिया को बहुत आसान बनाता है। पानी के टब में एप्सम सॉल्ट डालकर अच्छी तरह मिला लें। अपने निचले शरीर को टब में भिगोएँ। एप्सम सॉल्ट में मौजूद मैग्नीशियम आपकी त्वचा के माध्यम से आपके शरीर में absorb हो जाता है और Constipation को दूर करता है।

नोट: नियमित रूप से किसी भी चीज़ का सेवन शुरू करने से पहले किसी आयुर्वेदिक विशेषज्ञ से सलाह ज़रूर लें।

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिये?

यदि आपने अपने आहार, व्यायाम दिनचर्या, तनाव के स्तर और दवाओं में बदलाव करने के बावजूद Constipation की समस्या लगातार है किए हैं, तो यह डॉक्टर को दिखाने का समय है। इसके अलावा, यदि आप निम्न में से किसी एक का अनुभव करते हैं, तो भी यह आपके डॉक्टर को देखने का समय है।

  • Nausea और उल्टी।
  • भूख कम लगना।
  • लगातार पेट दर्द।
  • वजन घटना।
  • मलाशय से रक्तस्राव (Rectal Bleeding)।

Constipation एक ऐसी चीज है जिससे हम सभी समय-समय पर निपटते हैं। अपने आहार में फाइबर जोड़ने पर ध्यान दें, व्यायाम करें और Hydrated रहें।

Health and Others (HAO)
HOME REMEDIES

Leave a Comment

Your email address will not be published.