13 Superb Motivational Stories In Hindi

13 Superb Motivational Stories In Hindi

Stories लोगों का मार्गदर्शन करने, सिखाने और प्रेरित करने के सबसे शक्तिशाली तरीकों में से एक हैं। कहानी सुनाना प्रभावी है क्योंकि यह लोगों के साथ-साथ लोगों और मानवता को एकजुट करने वाले विचारों के बीच संबंध स्थापित करने में मदद करता है। Motivational Stories In Hindi जुड़ाव की भावना पैदा करते हुए अतीत में चली जाती हैं, और श्रोता को कहानी के साथ पहचान करने की अनुमति देती हैं कि वे अपने जीवन में कहीं भी हों, जो उन्हें सीखने के प्रति अधिक ग्रहणशील बनाता है।

कुछ बेहतरीन stories में कई अलग-अलग अर्थ या पाठ होते हैं, इसलिए वे जटिल विचारों को समझने में आसान तरीके से संप्रेषित करने में प्रभावी होते हैं। ये Motivational Stories In Hind आपको अपने सपनों का follow करने, दूसरों के साथ दयालुता से पेश आने और खुद को कभी हार न मानने के लिए प्रोत्साहित करेंगी। अपने सोचने के तरीके और अपने जीवन को बदलने की शक्ति पाएं।

Motivational Stories In Hind

13 Superb Motivational Stories In Hindi
Photo by Austin Chan on Unsplash

1 सोने से तीन फीट – Three Feet From Gold (Motivational Stories In Hind)

सोने की खोज के दौरान, कई महीनों से कोलोराडो में खनन कर रहे एक व्यक्ति ने अपनी नौकरी छोड़ दी, क्योंकि उसे अभी तक सोना नहीं मिला था और काम थकाऊ होता जा रहा था। उसने अपना उपकरण एक अन्य व्यक्ति को बेच दिया जिसने खनन फिर से शुरू किया जहां इसे छोड़ दिया गया था।

नए खनिक (miner) को उसके इंजीनियर ने सलाह दी थी कि जहां पहले खनिक ने खुदाई करना बंद किया था, वहां से केवल तीन फीट दूर सोना है। इंजीनियर सही था, जिसका अर्थ है कि पहला miner सोने से केवल तीन फीट दूर था।

Moral: जब चीजें कठिन होने लगे, तो विपरीत परिस्थितियों में डटे रहने की कोशिश करें।

2 बिना हवा के सांस लेना – Breathing With No Air (Motivational Stories In Hind)

एक बार एक लड़के ने एक बुद्धिमान वृद्ध से पूछा कि सफलता का रहस्य क्या है। लड़के का सवाल सुनने के बाद, बुद्धिमान व्यक्ति ने लड़के से कहा कि वह सुबह नदी पर उससे मिलें और उसे वहीं जवाब दिया जाएगा। सुबह होते ही वह बुद्धिमान और लड़का नदी की ओर चलने लगे। वे अपनी नाक और मुंह को ढकने वाले पानी के बिंदु को पार करते हुए नदी में चले गए। इस समय, बुद्धिमान व्यक्ति ने लड़के को पानी में डुबो दिया।

जैसे ही वह बाहर निकलने के लिए संघर्ष कर रहा था, बुद्धिमान व्यक्ति उसे और नीचे धकेलता रहा। लड़के ने महसूस किया कि उसके पैर से मछली फिसल गई है और वह और भी जोर से उठने के लिए फुसफुसाता है। आदमी ने अंततः लड़के का सिर ऊपर खींच लिया ताकि उसे हवा मिल सके। हवा की एक गहरी सांस लेते हुए लड़के ने हांफना शुरू कर दिया।

उस बुद्धिमान व्यक्ति ने कहा, ‘जब तुम पानी के नीचे थे तब तुम किस लिए लड़ रहे थे?

लड़के ने उत्तर दिया, “हवा!”

उस व्यक्ति ने कहा, “वहां आपके पास सफलता का रहस्य है। जब आप सफलता प्राप्त करना चाहते हैं जितना आप पानी के नीचे हवा चाहते थे, तो आप इसे प्राप्त करेंगे। यही एकमात्र रहस्य है।”

Moral: सफलता कुछ हासिल करने की इच्छा से शुरू होती है।

3 कितना बेकार है – What a Waste (Motivational Stories In Hind)

एक ऊंट माँ और उसका बच्चा धूप सेंकते हुए लेटे हुए थे।

ऊंट के बच्चे ने अपनी माँ से पूछा, “हमारी पीठ पर इतने बड़े उभार क्यों हैं?”

माँ सोचने के लिए रुकी और फिर बोली, “हम रेगिस्तान में रहते हैं जहाँ ज्यादा पानी उपलब्ध नहीं है। लंबी यात्राओं में जीवित रहने में हमारी मदद करने के लिए हमारे कूबड़ पानी जमा करते हैं। ”

फिर ऊंट का बच्चा सोचने के लिए रुक गया और कहा, “अच्छा, हमारे पास गोल पैरों के साथ लंबे पैर क्यों हैं?”

उसकी माँ ने उत्तर दिया, “वे हमें रेत से चलने में मदद करने के लिए हैं।”

बच्चे ने तीसरा सवाल पूछा, “मेरी पलकें इतनी लंबी क्यों हैं?”

माँ ने उत्तर दिया, “आपकी लंबी पलकें आपको हवा में उड़ने वाली रेत से सुरक्षा प्रदान करती हैं।”

अंत में, बच्चे ने कहा, “यदि हमारे पास रेगिस्तान से चलने के लिए हमें दी गई ये सभी प्राकृतिक क्षमताएं हैं, तो चिड़ियाघर में ऊंटों का क्या उपयोग है?”

Moral: यदि आप सही वातावरण में नहीं हैं तो आपके पास जो कौशल और क्षमताएं हैं, वे उपयोगी नहीं होंगी।

4 अंतिम परीक्षण – The Ultimate Test (Motivational Stories In Hind)

एक रात, कॉलेज के चार छात्र देर तक पार्टी करते रहे, हालांकि उन्हें पता था कि अगले दिन उनकी परीक्षा होनी है। अगली सुबह, वे अपनी परीक्षा से बचने के लिए योजना लेकर आए।

प्रत्येक छात्र गंदगी में इधर-उधर लुढ़कता और फिर शिक्षक के कार्यालय में चला जाता।

उन्होंने शिक्षक से कहा कि एक रात पहले कार का टायर फट गया था, और उन्होंने पूरी रात अपनी कार को वापस परिसर में धकेलने में बिताई।

शिक्षक ने सुना, और छात्रों की खुशी के लिए, उन्होंने तीन दिन बाद एक पुन: परीक्षण की पेशकश की।

परीक्षा के दिन छात्र अपने शिक्षक के कार्यालय गए। शिक्षक ने चारों छात्रों को परीक्षा देने के लिए अलग-अलग कमरों में रखा। छात्र इसके साथ ठीक थे क्योंकि उन्हें पढ़ने का मौका दिया गया था।

परीक्षण में 2 प्रश्न थे:
1) आपका नाम __ (1 अंक)

2) कौन सा टायर सपाट था? __ (99 अंक)

सामने दायीं ओर
सामने बायीं ओर
पीछे दाएं
पीछे वाम

Moral: बुद्धिमान निर्णय लेने के अलावा, आपको हमेशा अपने कार्यों की जिम्मेदारी लेने की आवश्यकता होती है।

5 बोल्डर और गोल्ड – The Boulder and the Gold (Motivational Stories In Hind)

एक बार एक राजा था जिसने एक छोटा सा प्रयोग करने का फैसला किया। उसने गली के ठीक बीच में एक विशाल शिलाखंड रखा था। फिर वह बोल्डर के पास छिप गया, यह देखने के लिए कि कौन इसे रास्ते से हटाने की कोशिश करेगा।

सबसे पहले, कुछ धनी व्यापारी वहां से गुजरे। वे यह शिकायत करते हुए शिलाखंड के चारों ओर चले गए कि राजा सड़कों का ठीक से रखरखाव नहीं कर रहा है।

इसके बाद, एक किसान अपने परिवार के लिए भोजन से भरे हाथों के साथ घर चला गया। जब उसने बोल्डर को देखा, तो उसने अपनी किराने का सामान नीचे रख दिया और उसे हर किसी के रास्ते से हटाने का प्रयास किया। उसे इसे स्थानांतरित करने में थोड़ा समय लगा, लेकिन अंततः वह सफल हुआ।

जब किसान ने घर ले जाने के लिए अपनी किराने का सामान इकट्ठा किया, तो उसने सड़क के बीच में एक थैला पड़ा देखा, जहाँ एक बार शिलाखंड था।

उसने बैग को खोला तो पाया कि उसमें सोने के सिक्के भरे हुए थे, साथ ही राजा का एक पत्र भी था जिसमें कहा गया था कि बैग का सोना किसान के पास रखने का इनाम था।

राजा ने यह उपहार इसलिए दिया क्योंकि किसान ने भविष्य में सड़क पर यात्रा करने वाले अन्य लोगों की सुविधा के लिए शिलाखंड को सड़क से हटाने के लिए समय और ऊर्जा ली थी।

Moral: इस कहानी में किसान को राजा ने सिखाया था कि आपके सामने आने वाली हर बाधा सुधार का अवसर प्रदान करती है।

13 Superb Motivational Stories In Hindi
Image by Igor Lukin from Pixabay

6 अभी इतनी देर नहीं हुई है – It’s Never Too Late (Motivational Stories In Hind)

1940 के दशक में, एक व्यक्ति था, जो 65 वर्ष की आयु में, एक छोटे से घर में $99 की सामाजिक सुरक्षा जांच के बाद बीट-अप कार चला रहा था।

उसने फैसला किया कि यह बदलाव करने का समय है, इसलिए उसने सोचा कि उसे क्या पेशकश करनी है जिससे अन्य लोग लाभान्वित हो सकें। उनका दिमाग उनकी फ्राइड चिकन रेसिपी पर गया, जो उनके दोस्तों और परिवार वालों को पसंद थी।

उन्होंने अपने गृह राज्य केंटकी को छोड़ दिया और पूरे देश में यात्रा की, अपनी रेसिपी को रेस्तरां में बेचने की कोशिश की। यहां तक ​​कि उन्होंने मुफ्त में नुस्खा भी पेश किया, जो कमाए गए पैसे का केवल एक छोटा हिस्सा मांगता था।

हालांकि, अधिकांश रेस्तरां ने उनके प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया। वास्तव में, 1,009 रेस्तरां ने कहा नहीं।

लेकिन तमाम विरोधों के बाद भी वह डटे रहे। उसे खुद पर और अपनी चिकन रेसिपी पर विश्वास था।

जब उन्होंने रेस्तरां #1,010 का दौरा किया, तो उन्हें हाँ मिला।

उसका नाम?

कर्नल हार्टलैंड सैंडर्स।

Moral: इस कहानी से आप कुछ सीख ले सकते हैं।

7 एक बुद्धिमान व्यक्ति के चुटकुले – A Wise Man’s Jokes (Motivational Stories In Hind)

एक बुद्धिमान व्यक्ति को एक बार ऐसे लोगों के समूह का सामना करना पड़ा जो एक ही मुद्दे के बारे में बार-बार शिकायत कर रहे थे। एक दिन उसने शिकायतें सुनने के बजाय उन्हें एक चुटकुला सुनाया और सब ठहाके मारकर हँस पड़े।

फिर, आदमी ने मजाक दोहराया। कुछ लोग मुस्कुराए।

अंत में, उस व्यक्ति ने तीसरी बार मजाक दोहराया-लेकिन किसी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

वह आदमी मुस्कुराया और कहा, “तुम एक ही मजाक पर एक से अधिक बार नहीं हंसोगे। तो आपको उसी समस्या के बारे में लगातार शिकायत करने से क्या मिल रहा है?”

Moral: यदि आप एक ही समस्या के बारे में शिकायत करते रहते हैं, लेकिन इसे ठीक करने के लिए कुछ नहीं करते हैं, तो आप कहीं नहीं पहुंचेंगे।

8 हाथी की रस्सी – The Elephant Rope (Motivational Stories In Hind)

हाथी के शिविर से गुजरते समय, एक व्यक्ति ने देखा कि हाथियों को केवल एक छोटी रस्सी से बांधा गया था जो एक टखने के चारों ओर बंधी थी। उसने सोचा कि हाथी रस्सी से मुक्त क्यों नहीं हुए, क्योंकि हाथी निश्चित रूप से ऐसा करने के लिए काफी मजबूत थे।

उन्होंने एक प्रशिक्षक से पूछा कि हाथियों ने मुक्त होने की कोशिश क्यों नहीं की, और प्रशिक्षक ने यह कहकर जवाब दिया कि वे वयस्क होने तक हाथियों के बच्चे के लिए एक ही आकार की रस्सी का उपयोग करते हैं। चूंकि वे बहुत छोटे होते हैं जब वे रस्सी से मुक्त होने के लिए बच्चे होते हैं, वे बड़े होते हैं कि रस्सी उनके मुकाबले ज्यादा मजबूत होती है। वयस्कों के रूप में, उन्हें लगता है कि रस्सी अभी भी उन्हें पकड़ सकती है, इसलिए वे इससे लड़ने की कोशिश नहीं करते हैं।

Moral: ऐसे में हाथियों को सीखी हुई लाचारी का सामना करना पड़ रहा है। यह घटना तब होती है जब किसी को इससे बचने या इसे रोकने का कोई तरीका न होने पर किसी तरह से असुविधा का अनुमान लगाने के लिए वातानुकूलित किया गया है।

9 चट्टानें, कंकड़, और सैंड – Rocks, Pebbles, and Sand (Motivational Stories In Hind)

एक दर्शनशास्त्र के प्रोफेसर एक बार एक बड़े खाली मेयोनेज़ जार के साथ अपनी कक्षा के सामने खड़े हुए। उसने घड़े को ऊपर तक बड़ी चट्टानों से भर दिया और अपने छात्रों से पूछा कि क्या घड़ा भरा हुआ है।

उनके सभी छात्र सहमत थे कि जार भरा हुआ है।

फिर उसने घड़े में छोटे-छोटे कंकड़ डाले, और घड़े को थोड़ा हिलाया ताकि कंकड़ बड़ी चट्टानों के बीच खुद को बिखेर सकें। फिर उसने फिर पूछा, “क्या घड़ा अब भर गया है?”

छात्र इस बात से सहमत थे कि जार अभी भी भरा हुआ है।

फिर प्रोफेसर ने शेष सभी खाली जगह को भरने के लिए जार में रेत डाल दी।

छात्र फिर सहमत हुए कि जार भरा हुआ है।

Moral: इस कहानी में, जार आपके जीवन का प्रतिनिधित्व करता है और चट्टानें, कंकड़ और रेत ऐसी चीजें हैं जो आपके जीवन को भर देती हैं।

10 परम उपहार – The Ultimate Gift (Motivational Stories In Hind)

एक बार एक छोटी लड़की थी जिसे अपनी जान बचाने के लिए आपातकालीन रक्त आधान की सख्त जरूरत थी।

उसके जीवित रहने का एकमात्र मौका अपने छोटे भाई से आधान प्राप्त करना होगा, जिसने चमत्कारिक रूप से उसी बीमारी को दूर कर लिया था, और इसलिए उसके रक्त में एंटीबॉडी थे जो बीमारी से लड़ने के लिए आवश्यक थे।

डॉक्टर ने छोटे लड़के को समझाया कि अगर वह उसे अपना खून दे तो उसकी बहन की जान बच जाएगी। लड़का अपनी बहन की मदद करने के लिए अपना खून देने के लिए सहमत होने से पहले एक पल के लिए झिझक गया। 5 साल की उम्र में यह डरावना था, लेकिन वह अपनी बड़ी बहन की जान बचाने के लिए कुछ भी कर सकता था।

जब रक्त आधान हो रहा था, वह अस्पताल में अपनी बहन के बगल में लेटा था और उसके गालों पर रंग वापस आते देख खुशी से झूम उठा। फिर उसने डॉक्टर की ओर देखा और चुपचाप पूछा, “मैं कब मरना शुरू करूंगा?”

लड़के ने मान लिया था कि वह उसे बचाने के लिए अपनी जान दे रहा है। छोटे लड़के के माता-पिता उस गलतफहमी पर चकित थे जिसके कारण लड़के को लगा कि वे उसकी बहन को उसके ऊपर चुन रहे हैं – और इससे भी अधिक आश्चर्य हुआ कि वह ऐसा करने के लिए सहमत हो गया था।

डॉक्टर ने उत्तर दिया, यह समझाते हुए कि वह मरने वाला नहीं था, वह बस अपनी बहन को अपने साथ एक लंबा, स्वस्थ जीवन जीने की अनुमति देने वाला था।

Moral: यह एक युवा लड़के के अत्यधिक साहस और आत्म-बलिदान प्रेम का एक उदाहरण है जिससे हम सभी सीख सकते हैं। उन्होंने अपनी बहन के लिए जो प्यार और देखभाल दिखाई, वह निस्वार्थता के बारे में एक प्रेरक संदेश देती है।

11 कूदते मेंढक – Jumping Frogs (Motivational Stories In Hind)

मेंढकों का एक समूह जंगल से कूद रहा था, तभी उनमें से दो गलती से एक गहरे गड्ढे में जा गिरे। अन्य मेंढक गड्ढे के चारों ओर खड़े थे, और यह देखते हुए कि यह कितना गहरा है, उन्होंने दो मेंढकों से कहा कि वे उनकी मदद नहीं कर सकते – कोई उम्मीद नहीं थी।

हालांकि, अपने जीवन के लिए लड़ते हुए, दो मेंढकों ने दूसरों को नजरअंदाज कर दिया और गड्ढे से बाहर कूदने की कोशिश करने लगे।

ऊपर के मेंढक गड्ढे में मेंढकों को हार मानने के लिए कहते रहे, क्योंकि उनके पास बाहर कूदने का कोई रास्ता नहीं था।

बार-बार कोशिश करने के बाद, मेंढकों में से एक ने दूसरों की बात सुनी और हार मान ली, अपने भाग्य को स्वीकार किया और अपनी मृत्यु के लिए गिर गया। लेकिन दूसरा मेंढक अपनी पूरी ताकत से कूदता रहा। मेंढकों की भीड़ ने गड्ढे में चिल्लाया कि मेंढक बस रुक जाए – वह नहीं बना।

लेकिन मेंढक और भी जोर से उछला और अंत तक बाहर निकलने तक डटा रहा। शीर्ष पर पहुंचने पर, अन्य मेंढकों ने कहा, “हमने सोचा था कि कोई भी मेंढक इतनी ऊंची छलांग नहीं लगा सकता-क्या आप हमें नहीं सुन सकते?”

मेंढक ने तब दूसरों को संकेत दिया कि वह बहरा है, और उसने सोचा कि गड्ढे के चारों ओर खड़े मेंढक पूरे समय उसे प्रोत्साहित कर रहे हैं।

Moral: दूसरों के शब्द आपके दृष्टिकोण और कार्यों को बहुत प्रभावित कर सकते हैं। निंदकों की उपेक्षा करें। केवल उन लोगों के साथ जुड़ें जो आपको प्रोत्साहित करते हैं और सफल होने की आपकी क्षमता में विश्वास करते हैं।

12 एक पाउंड एक पाउंड है – A Pound is a Pound (Motivational Stories In Hind)

एक बार एक किसान था, जो हर हफ्ते एक बेकर को एक पाउंड मक्खन बेचता था।

किसान से एक पाउंड मक्खन खरीदने के कई हफ्तों के बाद, बेकर ने मक्खन को तौलने का फैसला किया जो उसे मिल रहा था ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि यह वास्तव में एक पूर्ण पाउंड था। जब बेकर ने उसका वजन किया, तो उसे पता चला कि मक्खन एक पाउंड के नीचे था, जिससे वह क्रोधित हो गया। उसे लगा कि उसके साथ धोखा हो रहा है और उसने किसान को अदालत में ले जाने का फैसला किया।

कोर्ट में जज ने किसान से पूछा कि वह मक्खन कैसे तौल रहा है।

किसान ने कहा, “माननीय, मैं गरीब हूँ। मेरे पास सटीक माप उपकरण नहीं है। हालाँकि, मेरे पास एक पैमाना है। ”

न्यायाधीश ने तब पूछा कि क्या किसान मक्खन को मापने के लिए पैमाने का उपयोग करता है।

किसान ने कहा, “महाराज, मैं बहुत पहले से बेकर से एक पाउंड की रोटी खरीद रहा हूं, जब से उसने मुझसे मक्खन खरीदना शुरू किया था। जब भी बेकर मेरे लिए रोटी लाता है, तो मैं इसे पैमाने पर रखता हूं और फिर बदले में उसे देने के लिए मक्खन में ठीक उसी वजन को मापता हूं। इसलिए, यदि बेकर को एक पाउंड मक्खन नहीं मिल रहा है, तो वह भी एक पाउंड रोटी नहीं दे रहा है जैसा उसने वादा किया था। ”

Moral: आप जो बोएंगे वही पाएंगे। यदि आप दूसरों से जो वादा करते हैं, उससे धोखा देने की कोशिश करते हैं, तो बदले में आपको धोखा दिया जाएगा। आप जितने अधिक ईमानदार होंगे, अन्य लोगों पर भरोसा करना उतना ही आसान होगा और यह संदेह न करें कि वे आपको किसी तरह से धोखा दे रहे हैं।

13 Superb Motivational Stories In Hindi
Photo by Reuben Juarez on Unsplash

13 अपने संघर्षों को संजोएं – Cherish Your Struggles (Motivational Stories In Hind)

एक दिन, एक लड़की एक कोकून के पास आई, और वह बता सकती थी कि एक तितली फूटने की कोशिश कर रही है।

उसने इंतजार किया और देखा कि तितली खुद को छोटे से छेद से मुक्त करने के लिए घंटों संघर्ष कर रही है। अचानक, तितली ने हिलना बंद कर दिया – ऐसा लग रहा था कि वह फंस गई है।

तब लड़की ने तितली को बाहर निकालने में मदद करने का फैसला किया। वह कोकून को काटने के लिए कैंची लेने के लिए घर गई। तब तितली आसानी से भागने में सक्षम हो गई, हालांकि, उसका शरीर सूज गया था और उसके पंख अविकसित थे।

लड़की को अभी भी लगा कि उसने तितली पर एक एहसान किया है क्योंकि वह वहाँ बैठी थी और उसके शरीर को सहारा देने के लिए उसके पंखों के बढ़ने की प्रतीक्षा कर रही थी। हालांकि, ऐसा नहीं हो रहा था। तितली उड़ने में असमर्थ थी, और अपने पूरे जीवन के लिए, यह केवल छोटे पंखों और बड़े शरीर के साथ रेंग कर ही चल सकती थी।

लड़की के अच्छे इरादों के बावजूद, वह यह नहीं समझ पाई कि तितली के कोकून के प्रतिबंध और भागने के लिए तितली को जिस संघर्ष से गुजरना पड़ा, उसने एक महत्वपूर्ण उद्देश्य की पूर्ति की।

जैसे ही तितलियाँ तंग कोकून से निकलती हैं, यह उनके शरीर से तरल पदार्थ को उनके पंखों में खींचती है ताकि वे उड़ने में सक्षम हो सकें।

Moral: जीवन में जिन संघर्षों का आप सामना करते हैं, वे आपको बढ़ने और मजबूत होने में मदद करते हैं।

HAO
INSPIRATION

Leave a Comment

Your email address will not be published.

 - 
English
 - 
en
Punjabi
 - 
pa
Hindi
 - 
hi
Mesmerizing टूरिस्ट अट्रैक्शन in North इंडिया Success Quotes Navratri Celebrations CUET-UG results by September 15 NTA UGC NET Admit Card 2022