मोटिवेशन ऑन ज़िन्दगी

51 Motivational Quotes on ज़िन्दगी In Hindi

“ज़िन्दगी गुजारने के दो तरीके है, जो पसंद है इसे हासिल करलो या जो हासिल है इसे पसंद करलो।”


ज़िन्दगी की अचानक एक मोड़ पर सुख और दुःख से मुलाकात हो गई

🌹दुःख ने सुख से कहा🌹
तुम कितने भाग्यशाली हो, जो लोग तुम्हें पाने की कोशिश में लगे *रहते हैं….
सुख ने मुस्कराते हुए कहा, भाग्यशाली मैं नहीं तुम हो…!
दुःख ने हैरानी से पूछा :- वो कैसे सुख ने बड़ी ईमानदारी से जबाब दिया
वो ऐसे कि तुम्हें पाकर लोग अपनों को याद करते हैं 🙏लेकिन मुझे पाकर सब अपनों को भूल जाते हैं।


मेरी सभी कंपनियों के लिए मेरा मोटिवेशन ऐसी किसी चीज में शामिल होने का रहा है जो दुनिया पर सार्थक असर डाले.


जो आपका गुस्सा सहन करके भी आप का साथ दे…
उससे ज्यादा प्यार आपको कोई नही कर सकता।
काया और माया का कभी घमंड नही करे,
क्यूंकि मौत का कभी OTP नही आता..!!!


आशावादी हर आपत्तियों में भी अवसर देखता है और निराशावादी बहाने..
किसी भी काम को करने के लिए एक अवसर काफी है.. न करने के हजार बहाने!


वो* “बुलंदी” भी किस काम की?
जहां इंसान चढ़े; और इंसानियत गिर जाए…..!!!”
“दो” पल की ज़िन्दगी के सिर्फ “दो” ही “उसूल”
“निखरो” फूलों की तरह और “बिखरो” खुशबू की तरह
किसी को प्रेम देना सबसे बड़ा उपहार है, और
किसी का प्रेम पाना सबसे बड़ा सम्मान है…


जहां प्रेम होता हैं, वही सागर बहता है
प्रभू भी वहीं बसते हैं और वहां रिश्ते भी अपने आप ही बन जाते हैं
ये प्रेम ही तो है जो..
हम आपको रोज याद करते हैं, क्योंकि मनुष्य के जीवन में प्रेम ईश्वरीय देन है
अतः, प्रेम से बढ़कर कुछ भी नहीं…


जिंदगी खेलती भी उसी के साथ है,
जो खिलाड़ी बेहतरीन होता है,
दर्द सबके एक से है, मगर हौंसले सबके अलग अलग है,
कोई हताश हो के बिखर जाता है,
तो कोई संघर्ष करके निखर जाता।


प्रभु-कृपा का अर्थ यह नहीं, कि जीवन में कभी दुःख ही न आए।
दुःख में भी आप दुखी न हों, वो घड़ी कब बीत जाए,
आप को पता ही न चले… यही है “प्रभुकृपा”।।


अहंकार की आरी और कपट की कुल्हाड़ी सम्बन्धों को काट डालती है,
किसी भी रिश्ते को कितनी भी खूबसूरती से क्यों न बांधा जाए।
अगर नज़रों में इज्जत और बोलने में लिहाज ना हो,
तो वह टूट जाता है…


स्वाद और विवाद दोनो को छोड़ देना चाहिए।
स्वाद छोड़ो तो शरीर को फायदा,
विवाद छोड़ो तो संबंधों को फायदा!


तकदीर के खेल से नाराज नहीं होते।
ज़िन्दगी में कभी उदास नहीं होते।
हाथों किं लक़ीरों पे यक़ीन मत करना।
तकदीर तो उनकी भी होती हैं , जिन के हाथ ही नहीं होते।


ना दूर रहने से रिश्ते टूट जाते हैं और ना पास रहने से जुड़ जाते हैं
यह तो एहसास के पक्के धागे है जो याद करने से और मज़बूत हो जाते है।


“आँखों में जीत के सपने हैं, ऐसा लगता है अब जिंदगी के हर पल अपने हैं।”


अगर कुछ बेहद जरूरी है, तो भले ही चीजें आपके खिलाफ हों , फिर भी आपको वो जरुर करना चाहिए।


“समय”, “सेहत” और “सम्बन्ध”…
ये तीनों कभी कीमत का लेबल लगाकर नहीं आते,
पर जब हम उन्हें खो देते हैं तब हमें उनकी सही कीमत का एहसास होता है…


धैर्य और तपस्या जिसमें है….वही संसार को प्रकाशित कर सकता है..!
जीवन में प्रसन्न व्यक्ति वह हैं जो स्वयं का मूल्यांकन करता हैं…
दुःख़ी व्यक्ति वह हैं जो सिर्फ दूसरों का मूल्यांकन करता है।


समय बहाकर ले जाता है नाम और निशान,
कोई “हम” में रह जाता है कोई “अहम” में रह जाता है,
बोल मीठे न हो तो हिचकियां भी नहीं आती……
घर बड़ा हो या छोटा अगर मिठास ना हो तो इंसान क्या…
चींटियों भी नहीं आती…!!


दुश्मन को हज़ार मौके दो कि वो दोस्त बन जाए…
लेकिन दोस्त को एक भी ऐसा मौका मत दो कि वो दुश्मन बन जाए…


“जीवन के तीन मंत्र”
आनंद में – वचन मत दीजिये,
क्रोध में – उत्तर मत दीजिये
……ओर…..
दुःख में – निर्णय मत लीजिये।


ज़िन्दगी को देखने का सबका अपना अपना नजरिया होता है
कुछ लोग स्टेटस में ही सत्य बात कह देते है,
और कुछ लोग गीता पर हाथ रख कर भी सच नहीं बोलते।


“अगर आप उस इंसान की तलाश कर रहे हैं जो आपकी ज़िन्दगी बदलेगा, तो आईने में देख लें।”


आदमी जब पत्तल में खाना खाता था,
मेहमान को देख के वह हरा हो जाता था,
स्वागत में पूरा परिवार बिछ जाता था….
बाद में जब वह मिट्टी के बर्तन में खाने लगा,
रिश्तों को जमीन से जुड़कर निभाने लगा..
फिर जब पीतल के बर्तन उपयोग में लेता था,
रिश्तों को साल छः महीने में चमका लेता था…
लेकिन बर्तन कांच के जब से बरतने लगे,
एक हल्की सी चोट में रिश्ते बिखरने लगे …
अब बर्तन, थर्मोकोल पेपर के इस्तेमाल होने लगे,
सारे *सम्बन्ध भी अब यूज़ एंड थ्रो होने लगे …


ज़िन्दगी को जीओ, उसे समझने की कोशिश ना करो…
चलते वक्त के साथ चलो, वक्त को बदलने की कोशिश न करो….
दिल खोल कर सांस लो, अंदर ही अंदर घुटने की कोशिश न करो….!
कुछ बातें ईश्वर पर छोड़ दो, सब कुछ खुद सुलझाने
की कोशिश न करो……!!


रोती हुई आँखो मे इंतेज़ार होता है,
ना चाहते हुए भी प्यार होता है,
क्यू देखते है हम वो सपने,
जिनके टूटने पर भी उनके सच होने का इंतेज़ार होता है…


नाम और पहचान भले ही छोटी हो….
मगर खुद की होनी चाहिए
सभी का सम्मान करना बहुत अच्छी बात है,पर
आत्मसम्मान के साथ जीना खुद की पहचान है।


शिकायत न करे जिंदगी से…
शुक्रिया अदा कीजिए क्यों कि आपके पास जितना है…
न जाने🤔 कितनों के पास उतना भी नहीं है।


प्यार और उधार उसी को बांटो जिनसे वापसी की उम्मीद हो
दिया मिट्टी का है या सोने का, यह जरूरी नहीं है;
बल्कि वो अंधेरे में उजाला कितना देता है, यह जरुरी है।
उसी तरह दोस्त गरीब है या अमीर है, यह जरूरी नहीं है।
बल्कि वो आपकी मुसीबत में आपका कितना साथ देता है, यह जरूरी है।
बुरा वक़्त सबसे बड़ा जादूगर है..
एक ही पल में सारे चाहने वालों के चेहरे से पर्दा हटा देता है।


अगर ज़िंदगी में कुछ पाना हो, तो तरीके बदलो इरादे नहीं…!!


उस इंसान पर हमेशा भरोसा करना चाहिए,
जो आपके अन्दर येतीन बातें जान सके…
-मुस्कराहट के पीछे “दुःख”
-गुस्से के पीछे “प्यार”
-चुप रहने के पीछे “वजह”।


सत्य की भूख सबको है, लेकिन सत्य जब परोसा जाता है,
तो बहुत कम लोगों को इसका स्वाद अच्छा लगता है।


जिस तरह थोडी सी दवाई भयंकर रोगों को शांत कर देती है,
उसी तरह…ईश्वर का थोडा सा ध्यान
बहुत से कष्ट और दुखों का नाश कर देता है!


जीवन का सबसे बड़ा गुरु केवल वक्त होता है,
क्योंकि जो वक्त सिखाता है वो कोई नहीं सीखा पाता…


“करम” की “गठरी” “लाद” के “जग” में फिरे “इंसान”…
“जैसा” करे “वैसा” “भरे”,”विधि” का यहीं “विधान”…


“कर्म” करे “किस्मत” बनें “जीवन” का ये “मर्म”..
“प्राणी” तेरे “भाग्य” में तेरा अपना “कर्म”….


फूलों की तरह मुस्कुराते रहिये,
भंवरों की तरह गुनगुनाते रहिये,
चुप रहने से रिश्ते भी उदास हो जाते हैं,
कुछ उनकी सुनिए और कुछ अपनी सुनाते रहिये,
भूल जाइये शिकवे शिकायतों के पलों को,,,
छोटी छोटी खुशियों में मोती लुटाते रहिये..


माना कि आप किसी का भाग्य नहीं बदल सकते,
लेकिन अच्छी प्रेरणा देकर किसी का मार्ग-दर्शन तो कर सकते हैं।
भगवान कहते हैं जीवन में कभी मौका
मिले तो सारथी बनना, स्वार्थी नही।


ज़िन्दगी में कितनी ही परेशानी क्यों न आये कमजोर मत होना क्योंकि सूरज की तपन से समंदर भी कभी सूखा नही करते..


बोल उठती है तस्वीर मन से बुला कर देख,
दिल की बात ज़रा प्रभु को सुना कर देख।
देते है वो सबकी बातों का जवाब,
दुःख अपने दिल का उनको बता कर देख।
होगा इक रोज़ तुमको भी किस्मत पे अपनी नाज़
चरणों में उनके सिर को झुका कर देख।
अच्छे इन्सान की सबसे पहली और सबसे आखिरी निशानी
वो उन लोगों की भी इज्जत करता है,
जिनसे उसे किसी तरह के फायदे की उम्मीद नही होती..


“प्रशंसा” से “पिघलना” मत,
“आलोचना” से “उबलना” मत,
निस्वार्थ भाव से कर्म कर
क्योंकि इस “धरा” का, इस “धरा” पर,
सब “धरा रह जाऐगा
“मनुष्य कितना भी गोरा क्यों ना हो
परंतु उसकी परछाई सदैव काली होती है !
“मैं सर्वश्रेष्ठ हूँ” यह आत्मविश्वास है लेकिन
“सिर्फ मैं ही सर्वश्रेष्ठ हूँ” यह अहंकार है..
अहंकार से जिनका, मन मैला है ,
करोड़ों की भीड़ में भी, वह अकेला है !


प्यार इंसान से करो उसकी आदत से नहीं,
रूठो उनकी बातों से मगर उनसे नहीं,
भूलो उनकी गलतियां पर उन्हें नहीं,
क्योंकि रिश्तों से बढ़कर
कुछ भी नहीं….


“सबंध” ज्ञान एवं पैसे से भी बड़ा होता है,
क्योकि जब ज्ञान और पैसा विफल हो जाता है।
तब “सबंध” से स्थिति सम्भाली जा सकती है,
“मधुर सबंध” बनाकर जीवन सार्थक कीजिये।
हँसते रहिये हंसाते रहिये, सदा मुस्कुराते रहिये।


ऊपर वाले का जवाब भले ही देर से मिलता है पर लाजवाब मिलता है।”


ज़िन्दगी जख्मों से भरी है वक्त को मरहम बनाना सिख लों,
हारना तो है ही मौत के सामने पहले जिंदगी से जीना सिख लो।


अगर जिंदगी में सुकून चाहते हो तो Focus अपने काम पर करो लोगों की बातो पर नहीं..


थोड़ा डुबूंगा, मगर मैं फिर तैर आऊंगा,
ऐ ज़िंदगी, तू देख, मैं फिर जीत जाऊंगा…


मैं शुक्रगुजार हूं उन तमाम लोगों का जिन्होंने बुरे वक्त में मेरा साथ छोड़ दिया,
क्योंकि उन्हें भरोसा था कि मैं मुसिबतों से अकेले हि निपट सकता हूं।


अक्सर अकेलेपन से वहीं गुजरता है,
जो ज़िंदगी में सही फैंसलों को चुनता है।


ज़िन्दगी तीन पेज की है…….
पहला और अंतिम पेज भगवान ने लिख दिया है :
पहला ” जन्म ” .., अंतिम ” मृत्यु ” !!!!!!
बीच के पेज को हमें भरना है ; ” * प्यार * ” , ” * विश्वास * ” और ” * मुस्कराहट * ” के द्वारा।


ज़िन्दगी सँवारने को तो ज़िन्दगी पड़ी है,
वो लम्हाँ सँवार लो जहाँ ज़िन्दगी खड़ी है।


मंजिल इंसान के हौसले आज़माती है, सपनों के पर्दे आँखों से हटाती है,
किसी भी बात से हिम्मत ना हारना; ठोकर ही इंसान को चलना सिखाती है।


कुछ ज्यादा ख़्वाहिशें नहीं ए-ज़िन्दगी तुझसे,
बस मेरा अगला कदम पिछले से बेहतरीन हो!!


तूफ़ान में कभी ताश का घर नहीं बनता रोने से कभी बिगड़ा मुक़द्दर नहीं संवरता.
दुनिया को जितने का हौसला रखो..
एक बार हारने से कोई फ़क़िर नहीं बनता,
और एक बार जीतने से कोई सिकंदर नहीं बनता!!


ज़िन्दगी की कठनाइयों से भाग जाना आसान होता है,
ज़िन्दगी में हर पहलू इम्तेहान होता है,
डरने वालो को नही मिलता कुछ ज़िन्दगी में,
लड़ने वालों के कदमो में जहांन होता है।
यही जज्बा रहा तो मुश्किलों का हल भी निकलेगा,
जमीं बंजर हुई तो क्या वहीं से जल भी निकलेगा,
ना हो मायूस ना घबरा अंधेरों से मेरे साथी,
इन्हीं रातों के दामन से सुनहरा कल भी निकलेगा।


जीवन की सबसे बड़ी ख़ुशी, उस काम को करने में हैं,
जिसे लोग कहते हैं, “तुम नहीं कर सकते”…


ज़िन्दगी तुम्हारी हैं, चाहे तो बना लो चाहे तो मिटा लो,
अगर चाहते हो कुछ करना, तो अभी भी वक़्त हैं अपनी जान लगा दो..


जब मेहनत करने के बाद भी सपने पुरे नहीं होते तो रास्ते बदलीए
सिद्धांत नहीं क्योंकी, पेड़ भी हमेशा पत्ते बदलता है जड़ नहीं…


ज़िन्दगी एक आइना है,
ये तभी मुस्कुराएगी जब हम मुस्कुरायेंगे..


कई जीत बाकी है कई हार बाकी है,
अभी तो ज़िन्दगी का सार बाकी है।
यहां से चले हैं नई मंजिल के लिए,
यह तो एक पन्ना था अभी तो पुरी किताब बाकी है॥


Leave a Reply

Your email address will not be published.